हिन्दी भाषा को विश्व में सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषा के खिताब से नवाज़ा गया

           बीती 10 जनवरी को समूचे विश्व में विश्व हिंदी दिवस बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। यह तारीख हिन्दी के लिये अपने बढ़ते प्रभाव से दुनिया को रूबरू कराने की भी रही। मशहूर सूफ़ी कवि अमीर ख़ुसरो ने हिन्दी के सम्बंध में बहुत ख़ूब लिखा है,  "अगर मीठी बातें करनी हो , तो मुझसे हिन्दी में बतियाओ। "
   भारत के स्वतन्त्रता प्राप्ति के पश्चात हिन्दी भाषा को भारत की राजभाषा का दर्ज़ा प्राप्त हुआ और इसी के साथ ही  सम्पूर्ण भारतवर्ष  में हिन्दी पुनः अस्तित्व में आयी।


 स्रोत-  गूगल 

    उल्लेखनीय है कि हिन्दी को विश्व में सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषा के खिताब से नवाज़ा गया है। साथ ही आकड़ों से ज्ञातव्य होता है कि भारत में हिन्दी भाषी 78 फ़ीसद हैं। इसके चलते अब सरकार को  संविधान संशोधन के द्वारा उच्चतम न्यायालय और उच्च न्यायालयों की भाषा हिन्दी करनी चाहिए।  साथ ही संसद और विधान मण्डलों से पारित कानून की भाषा भी हिन्दी पर होने का प्रावधान करना चाहिए। इसका परिणाम यह होगा कि हिन्दी भाषा लोकप्रिय बनेगी और साथ ही भारत राष्ट्र हिन्दी भाषी राष्ट्र भी बनेगा।  


    !!  शुक्रिया भारत  !!

Comments

Popular posts from this blog

अतिरंजीखेड़ा के विस्तृत भू-भाग में फ़ैले पुरातात्विक अवशेष ईंट और टेरकोटा के टुकड़े गवाह हैं अपने इतिहास और रंज के

मदार का उड़ता बीज : Flying Seed Madar

भरतकूप : भगवान भरत के कुएँ की पौराणिक नगरी और बुंदेलों का ऐतिहासिक स्थल